भारत सरकार लेखन सामग्री कार्यालय, की स्थापना वर्ष 1850 में किया गया था। आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के दिशा निदेश में, केन्द्रीय क्रय और आपूर्ति, एजेंसी की आकर्षित करते हुए गुणता नियंत्रक पैमाना पर आधारित आर्थिक लागत पर लेखन सामग्रियों की क्रय किया जाता है। आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार लेखन सामग्री कार्यालय के माध्यम से सामाजिक आर्थिक विकास में राष्ट्र से वा में भी अहम भूमिका प्रदान करता है।

Office
भारत सरकार लेखन सामग्री की भूमिकाः-
लेखन सामग्रीयों का चयनः-

1.कार्यालय प्रयोग हेतु लेखन सामग्रियों का चयन पूरे भारत वर्ष के मांगकर्ताओं के मत से हमेशा किया जाता है।

विशिष्टियों की तैयारीः-

2. मुद्रण क्षेत्र के प्रयोग में होने वाली सामग्रीयों की विशिष्टता और लेखन सामग्री भारतीय मानक ब्युरों (बी.आई.एस) की देख-रेख में तैयार की जाती है। ताकि किसी खरता से बचा जा सकें। भारतीय मानक ब्युरों के जो नियंत्रणाधीन है। इस मदो हेतु समिति का अध्यक्ष-नियंत्रक-लेखन-सामग्री होता है। उपनियंत्रक (निरीक्षण) भारत सरकार लेखन सामग्री कार्यालय की मुख्य सदस्य के रूप में अपनी भूमिका का निवाह करता है।

Hindi